Wednesday, June 15, 2022

नासिर काज़मी - एक ग़ज़ल

नासिर काज़मी - एक ग़ज़ल


वो साहिलों पे गाने वाले क्या हुए

वो कश्तियाँ चलाने वाले क्या हुए

वो सुब्ह आते आते रह गई कहाँ

जो क़ाफ़िले थे आने वाले क्या हुए

मैं उन की राह देखता हूँ रात भर

वो रौशनी दिखाने वाले क्या हुए



ये कौन लोग हैं मिरे इधर उधर
वो दोस्ती निभाने वाले क्या हुए

वो दिल में खुबने वाली आँखें क्या हुईं

वो होंट मुस्कुराने वाले क्या हुए

इमारतें तो जल के राख हो गईं

इमारतें बनाने वाले क्या हुए

अकेले घर से पूछती है बे-कसी

तिरा दिया जलाने वाले क्या हुए

ये आप हम तो बोझ हैं ज़मीन का

ज़मीं का बोझ उठाने वाले क्या हुए

वीडियो
THIS VIDEO IS PLAYING FROM YOUTUBE

नासिर काज़मी

नासिर काज़मी

ज़िया मोहीउद्दीन

ज़िया मोहीउद्दीन

RECITATIONS

नोमान शौक़

नोमान शौक़

Tuesday, June 7, 2022

फ़रहत शहज़ाद -नई ग़ज़ल के साथ



एक नई ग़ज़ल के साथ फ़रहत शहज़ाद

एक बस तू ही नहीं मुझ से ख़फ़ा हो बैठा

मैं ने जो संग तराशा था ख़ुदा हो बैठा

ऐसे बेमिसाल शेर कहने वाले फ़रहत साहब को सुनिए-



 

Tuesday, May 31, 2022

गोपाल दास नीरज -एक अनसुना कवि सम्मेलन

 गोपालदास नीरज (4 जनवरी 1925 - 19 जुलाई 2018), हिन्दी साहित्यकार, शिक्षक, एवं कवि सम्मेलनों के मंचों पर काव्य वाचक एवं फ़िल्मों के गीत लेखक थे। वे पहले व्यक्ति थे जिन्हें शिक्षा और साहित्य के क्षेत्र में भारत सरकार ने दो-दो बार सम्मानित किया, पहले पद्म श्री से, उसके बाद पद्म भूषण से। यही नहीं, फ़िल्मों में सर्वश्रेष्ठ गीत लेखन के लिये उन्हें लगातार तीन बार फिल्म फेयर पुरस्कार भी मिला।


सुनिए कैसे मन्त्र मुग्ध करते थे सुनने वालों को और ये आज की ग़ज़ल का चैनल है ,ख़ुशी होगी अगर आप इसे 

subscribe कर लें -



Saturday, May 28, 2022

गीतांजलि श्री -रेत समाधि

 गीतांजलि श्री की "रेत समाधि" और उसके अंग्रेजी अनुवाद Tomb of Sand जिसे डेजी रॉकवेल ने अंग्रेजी में अनुवादित किया है, इस साल के बुकर से सम्मानित किया गया है।हर्ष और गर्व के पल हैं , गीतांजलि श्री को बधाई

आइये सुनते हैं वो इस उपन्यास के बारे में क्या कहती हैं -


Tuesday, May 24, 2022

कृष्ण बिहारी नूर -एक बेमिसाल शायर

 सूफ़ियों जैसी कैफ़ीयत वाला बेमिसाल शायर -कृष्ण बिहारी नूर-


मैं तो ग़ज़ल सुना के अकेला खड़ा रहा

सब अपने अपने चाहने वालों में खो गए


उपनाम :'नूर'

मूल नाम :कृष्ण बिहारी

जन्म :08 Nov 1926 | लखनऊउत्तर प्रदेश

निधन :30 May 2003 | ग़ाज़ियाबादउत्तर प्रदेश

सन २००० के पठानकोट मुशायरे में शिरकत करते हुए श्री कृष्ण बिहारी नूर ,सुनिए |